Category:Rambhadracharya

From Wikimedia Commons, the free media repository
Jump to: navigation, search
Authority control
English: Jagadguru Rambhadracharya (Saṃskṛta: जगद्गुरुरामभद्राचार्यः, Hindi: जगद्गुरु रामभद्राचार्य, IAST: Jagadguru Rāmabhadrācārya, IPA: ɟəɡəd̪ɡuru rɑːməbʱəd̪rɑːcɑːrjə) (1950–), born Giridhar Mishra (IAST: Giridhara Miśra), is one of the four incumbent Jagadguru Rāmānandācāryas (leaders of the Rāmānandī monastic order), and has held this title since 1988 CE. He is the establisher and the head of the Tulsi Peeth, a religious and social service institution named after saint Tulasīdāsa, located in Chitrakuta (Uttar Pradesh, India).
हिन्दी: जगद्गुरु रामभद्राचार्य (संस्कृत: जगद्गुरुरामभद्राचार्यः) (१९५०–), पूर्वाश्रम नाम गिरिधर मिश्र (संस्कृत: गिरिधरमिश्रः), चित्रकूट (उत्तर प्रदेश, भारत) में रहने वाले एक प्रख्यात विद्वान्, शिक्षाविद्, बहुभाषाविद्, रचनाकार, प्रवचनकार, दार्शनिक और हिन्दू धर्मगुरु हैं। वे रामानन्द सम्प्रदाय के वर्तमान चार जगद्गुरु रामानन्दाचार्यों में से एक हैं, और इस पद पर १९८८ ई से प्रतिष्ठित हैं। वे चित्रकूट में स्थित संत तुलसीदास के नाम पर स्थापित तुलसी पीठ नामक धार्मिक और सामाजिक सेवा संस्थान के संस्थापक और अध्यक्ष हैं। वे चित्रकूट स्थित जगद्गुरु रामभद्राचार्य विकलांग विश्वविद्यालय के संस्थापक और आजीवन कुलाधिपति हैं। यह विश्वविद्यालय केवल चतुर्विध विकलांग विद्यार्थियों को स्नातक तथा स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम और डिग्री प्रदान करता है। जगद्गुरु रामभद्राचार्य दो मास की आयु में नेत्र की ज्योति से रहित हो गए थे और तभी से प्रज्ञाचक्षु हैं। अध्ययन या रचना के लिए उन्होंने कभी भी ब्रेल लिपि का प्रयोग नहीं किया

Subcategories

This category has the following 5 subcategories, out of 5 total.

Pages in category "Rambhadracharya"

This category contains only the following page.

Media in category "Rambhadracharya"

The following 43 files are in this category, out of 43 total.